आखिर क्यों है 9 सितंबर यादगार सचिन के मेमोरी कार्ड में..?

0
182
आखिर क्यों है 9 सितंबर यादगार सचिन के मेमोरी कार्ड में..?
आखिर क्यों है 9 सितंबर यादगार सचिन के मेमोरी कार्ड में..?

स्पोर्ट्स डेस्क: टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने कई रिकॉर्ड बनाए हैं। उनके रिकॉर्डस को तोड़ना किसी भी खिलाड़ी के लिए आसान नहीं है। इसी क्रम में 9 सितंबर भी आता है। दरअसल 9 सितंबर 1994 को सचिन तेंदुलकर ने वनडे करियर का पहला शतक जड़ा था। भारत सितंबर 1994 में श्रीलंका दौरे पर गया था, जहां सिंगर वर्ल्ड सीरीज खेली जा रही थी। इस सीरीज का तीसरा वनडे भारत और आस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। उस समय आस्ट्रेलियाई टीम में शेन वॉर्न और ग्लेन मैक्ग्रा जैसे खतरनाक गेंदबाज थे। वहीं दूसरी ओर टीम इंडिया में महज 21 साल के युवा खिलाड़ी सचिन।

इस मैच में टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। इस मैच में ओपनिंग के लिए मनोज प्रभाकर और सचिन तेंदुलकर आए। इंडिया अच्छी शुरुआत के साथ आगे बढ़ रहा था, लेकिन तभी 20 रन के स्कोर पर खेल रहे प्रभाकर को शेन वॉर्न ने आउट कर दिया। इस समय भारत का स्कोर 87 रन था। फिर सचिन का साथ देने नवजोत सिंह सिद्धू क्रीज पर आए। लेकिन सिद्धू सिर्फ 24 रन बना कर पवेलियन लौट गए। भारत का स्कोर 129 पर 2 विकेट। अब क्रीज पर मौजूद थे सचिन और मोहम्मद अजहरुद्दीन थे।

यह दिन इतिहास में दर्ज है। आज से ठीक 23 साल पहले सचिन ने अपना पहला वनडे शतक लगाया था। उन्होंने इस मैच में 130 बॉल पर 8 चौके और 2 छक्कों की मदद से 110 रन की यादगार पारी खेली। यह मैच भारत ने 31 रनों से जीत और सचिन को मैन ऑफ द मैच चुना गया। इसके बाद सचिन कभी रुके नहीं। उन्होंने संन्यास लेने से पहले आखिरी अंर्तराष्ट्रीय शतक 16 मार्च 2012 में बांग्लादेस के खिलाफ जड़ा था।

इस समय सचिन 98 के निजी स्कोर पर खेल रहे थे और गेंदबाजी के लिए शेन वॉर्न गेंद लेकर तैयार थे। इस ओवर एक गेंद को सचिन ने पॉइंट और शॉर्ट एरिया के बीच से खेल दिया। यह गेंद मिस फील्ड और सचिन ने पारी की 119वीं गेंद पर अपने वनडे करियर का पहला शतक लगा दिया। कोहली का बड़ा बयानः अगर ऐसा हुआ तो 10 साल और खेलता रहूंगा…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here