सहारनपुर हिंसा पर राज्यसभा में बवाल, मायावती ने दी इस्तीफे की धमकी

0
116

उत्तर प्रदेश: संसद के मॉनसून सत्र का आज दूसरा दिन है। आज सदन की शुरूआत होते ही लोकसभा और राज्यसभा में हंगामा हो गया। राज्यसभा में दलितों पर अत्याचार का मामला उठाने के बाद बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती सदन से वॉकआउट कर गईं। उन्होंने राज्यसभा से इस्तीफे की धमकी दी है। वहीं लोकसभा को स्थगित कर दिया गया।

बसपा प्रमुख मायावती ने राज्यसभा में उत्तर प्रदेश में दलितों पर अत्याचार का मामला उठाया। जब वे इस मुद्दे पर बोल रही थीं तब सदन में काफी शोर-शराबा हो रहा था। जिसके बाद मायावती ने अपनी बात रखने की अपील की। राज्सभा के उपसभापति ने कहा कि आपको तीन मिनट ही बोलना है।

सहारनपुर और दलित हिंसा को लेकर हुए हंगामे के बाद मायावती और उपसभापति के बीच बहस हुई। इस दौरान उपसभापति ने उनसे कहा कि आपने तय समय में अपनी बात नहीं खत्म की। आपको बाद में फिर समय दिया जाएगा। लेकिन वो बोलती रहीं। इस घटना से नाराज मायावती ने राज्यसभा से इस्तीफे की धमकी दी। उन्होंने आरोप लगाया कि मुझे इस मुद्दे पर बोलने नहीं दिया जा रहा। उन्होंने कहा कि आज वो इस्तीफा देंगी।

बता दें कि आज कई मुद्दों पर विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में है। इसके लिए कांग्रेस ने देश में किसानों की बदहाली पर चर्चा के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव दे दिया है। इसके अलावा राजद ने भी लालू प्रसाद यादव पर हो रही कार्रवाई को विपक्ष की चाल बताते हुए स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है।
कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने भीड़ की हिंसा में लोगों के मारे जाने और मंदसौर में पुलिस फायरिंग में किसानों की मौत पर चर्चा के लिए राज्यसभा में नोटिस दिया है। जबकि राजद नेता जेपी यादव ने लालू यादव को विपक्ष की ओर से परेशान किये जाने को लेकर स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है। इससे पहले सोमवार को सत्र के पहले दिन की कार्यवाही दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि देने के बाद स्थगित कर दी गई थी।

विपक्ष मॉब लिंचिंग, जीएसटी, चीन बॉर्डर, पाकिस्तान, किसान समेत कई मुद्दों को प्रमुखता से उठाने की तैयारी में है। कांग्रेस, लेफ्ट समेत पूरा विपक्ष सरकार पर इन मुद्दों को लेकर हमलावर रहेगा।

वहीं सरकार भी विपक्ष के हर मुद्दे का जवाब देने को तैयार है। बीजेपी पूरी तरह से तैयार है कि विपक्ष को हर मुद्दे पर करारा जवाब दिया जाएगा। सत्र से पहले बीजेपी की भी बैठक हुई, जिसमें बीजेपी ने हर मुद्दे के लिए रणनीति तैयार की है. बीजेपी शशिकला के मुद्दे पर भी विपक्षी पार्टियों को घेरेगी. बीजेपी सांसद इस मुद्दे पर संसद के बाहर महात्मा गांधी की मूर्ति के पास धरना भी दे सकते हैं।

आपको बता दें कि संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हो गया है। सत्र शुरू होते ही अमरनाथ यात्रा के दौरान हुए आतंकी हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी गई। वहीं पूर्व लोकसभा सांसद विनोद खन्ना, अनिल माधव दवे को भी श्रद्धांजलि दी गई, जिसके बाद कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here