गुजरात पर विजय करेगा राहुल गाँधी का ये प्लान

0
513
इस साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने खास प्लान बनाया है.
इस साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने खास प्लान बनाया है.

देश: इस साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने खास प्लान बनाया है. उत्तर प्रदेश की तर्ज पर राहुल गांधी पूरे प्रदेश में 4 यात्राएं करेंगे. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस उपाध्यक्ष 21 सितंबर को पार्टी की इस रणनीतिक यात्रा की शुरुआत करेंगे. राहुल गांधी सितंबर के पहले हफ्ते में गुजरात में पार्टी के चुनाव प्रचार की औपचारिक शुरुआत करने वाले हैं|

दशकों से गुजरात की सत्ता से दूर रहने वाली कांग्रेस ने अपने तुरुप के इक्के राहुल गांधी को भरपूर इस्तेमाल करने की रणनीति बनाई है. राहुल ने जिस तरह यूपी चुनाव प्रचार की शुरुआत एक बड़ी यात्रा से की थी उसी तर्ज पर वो गुजरात में भी चुनावी मैदान में उतरने वाले हैं. हालांकि यूपी की तरह चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब इस चुनाव में उनके साथ नहीं हैं और पार्टी अपने स्तर पर ही ये आयोजन करेगी|

कांग्रेस के प्लान के मुताबिक
पूरे गुजरात को 4 भागों में बांटा गया है और हर हिस्से के लिए एक सचिव नियुक्त किया गया है. सभी 4 क्षेत्रों में अपनी यात्रा के दौरान राहुल गांधी 4 से 5 दिन रूकेंगे. राहुल का इरादा लगभग 60 विधानसभा क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं तक सीधी पहंच का है. चार सितंबर को राहुल इन यात्राओं की जमीन तैयार करने के लिए अहमदाबाद में प्रदेश भर से आए पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलेंगे|

चार यात्राओं की जिम्मेदारी प्रकाश जोशी को दी गई है जो राहुल की टीम के अहम सदस्य हैं. 21 सितंबर को सौराष्ट्र क्षेत्र के द्वारका से राहुल पहली यात्रा शुरू करेंगे. सौराष्ट्र को बीजेपी का मज़बूत गढ़ माना जाता है. बाकी की तीन यात्राओं का कार्यक्रम अभी तय किया जाना बाकी है|

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक
राहुल इन यात्राओं के दौरान किसानों और युवाओं के मुद्दे उठाएंगे. राहुल राज्य की बीजेपी सरकारों के भ्रष्टाचार का मुद्दा भी जोरशोर से उठाएंगे|

अहमद पटेल की राज्य सभा चुनाव में जीत ने कांग्रेस को प्रदेश में नई ऊर्जा दी है और कांग्रेस उसे भुनाने में लग गई है. इस बार गुजरात में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के चुनावी प्रचार में हिस्सा लेने के आसार बहुत कम हैं. हालांकि प्रदेश के नेता सोनिया गांधी की कम से कम 2 रैली कराने की कोशिश में जुटे हैं|

गुजरात का ये विधानसभा चुनाव राहुल गांधी का ही शो होगा जिसमें इस बार न तो पीके हैं और ना ही केंद्र के बड़े नेताओं का हस्तक्षेप होगा. यही वजह है कि राहुल पुरे दमखम से इस चुनाव में जुटे हैं, क्योंकि इसके नतीजे राहुल की पार्टी में धमक और उनके सियासी भविष्य को भी काफी हद तक तय करेंगे|

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here